User: Vishal Kumar ch

Added 2 years ago

तुम को अपना समझा था तभी बच्चों कि तरह समझाया
था, दूसरे से बात करते समय तुम को मेरी याद भी न
आया था, क्या गजब का तुमने रिस्ता जोडा था, झुठी
बाते झुठे इरादो से तुम ने यह रिश्ता जोड़ा था, एसी
गलती करते समय तुम को मेरी याद भी न आया था, तुम
हंस के मांग लेती जान मेरी तो यह जान तुम पर नेवछावर था.

I Like SMS - Like: 7 - SMS Length: 729 - Facebook Share - WhatsApp Share
Tags: Love SMS
Added 2 years ago

ओ किसी और से बात कर के खुश हैं, तो शिकायत कैसी, मैं उस को खुश ना देखूं तो यह मेरी मोहब्बत कैसी,

I Like SMS - Like: 9 - SMS Length: 235 - Facebook Share - WhatsApp Share

Language

Arrow_dark All SMS